निर्माणाधीन छात्रावास की छत गिरी आधा दर्जन मजदूर मलबे में दबे सिंगरौली के बरगवां थाना अंतर्गत ग्राम गडरिया में हुआ हादसा महेंद्र एंड महेंद्र कंपनी द्वारा कराया जा रहा था निर्माणकार्य

सिंगरौली हीरावती। बरगवां थाना अंतर्गत ग्राम गड़ेरिया में बुधवार की रात एक निर्माणाधीन छात्रावास की छत भर-भराकर गिर गई जिसके नीचे करीब आधा दर्जन मजदूर दब गए। हादसे के दौरान मौके पर प्रकाश की कोई अच्छी व्यवस्था नहीं होने से हाहाकार मच गया ग्रामीणों द्वारा बताया गया कंपनी प्रबंधन द्वारा कालम और बीम की ढलाई बालू के जगह क्रेशर के डस्ट से की गई थी जिसकी शिकायत ग्रामीणों द्वारा कई बार वरिष्ठ अधिकारियों से की गई थी लेकिन ग्रामीणों की अधिकारियों ने एक भी नहीं सुनी अधिकारियों द्वारा व कंपनी प्रबंधन द्वारा बताया जाता था के क्रेशर का डस्ट डालने का स्टीमेट में प्रावधान है उस मजदूर जो बाहर थे उन्होंने हल्ला किया तो आसपास के लोगों की मदद मिली जिसके बाद तत्काल सूचना बरगवां पुलिस को दी गई और मौके पर पुलिस कर्मियों ने मलबे में दबे मजदूरों को स्थानीय लोगों की सहायता से निकालना शुरू किया तो एक.एक करके आधा दर्जन मजदूर मलबे में दबे मिले उन्हें निकाल कर तत्काल इलाज के लिए छज्च्ब् विंध्यनगर अस्पताल भेजा गया देर रात तक घटनास्थल पर रेस्क्यू का कार्य जारी रहा और मौके पर जेसीबी की सहायता से मलवा हटाकर मजदूरों की खोजबीन जारी रही ऐसे हुआ हादसा बताया जाता है कि छात्रावास काफी समय से निर्माणाधीन था ऐसे मैं इन दिनों उसमें छत की ढलाई का कार्य चल रहा था जिसमें कॉलम और भीम अच्छी तरह से मजबूत नहीं थे डस्ट डालकर कॉलम बीम की ढलाई की गई थी और उसकी अच्छी तरह से तराई भी नहीं की गई थी जिसमें शटरिंग की गई थी तो शटरिंग का लोड कॉलम और बीम नहीं ले पाया और जैसे ही ढलाई का कार्य शुरू हुआ वैसे ही छत का हिस्सा बीम कॉलम नीचे गिरने लगे हुआ जिसमें शटरिंग की गई थी भवन के इंटरेस्ट तरफ की बीम मे लगी शटरिंग अचानक भरभराकर गिर गई जिसमें नीचे खड़े मजदूर दब गए और इसके बाद एक.एक करके बाकी सभी हिस्सों में शटरिंग गिरने लगी जिसमें और भी मजदूरों के दबे होने की बात बताई जा रही है अभी यह पुष्टि नहीं की जा सकती है कि हादसे में कितने मजदूर घायल हुए हैं लेकिन कंपनी प्रबंधन द्वारा बताया गया की आधा दर्जन लोग गंभीर घायल हुए हैं जिन्हें इलाज के लिए एननटीसी अस्पताल भेजा गया है खोजबीन जारी है
—————