विवादों के बीच ऋतिक रोशन ने मैथमैटिशियन आनंद को दिखाया ‘सुपर 30’ का शूटिंग फुटेज

बॉलीवुड डेस्क.आईआईटी की तैयारियां कराने वाले संस्थान ‘सुपर 30’ के संस्थापक और मैथमैटिशियन आनंद कुमार की बायोपिक की शूटिंग अब अंतिम चरण में है। फिल्म की 60 से 70 फीसदी शूटिंग बनारस, मुंबई और राजस्थान में हो चुकी हैं। जल्द ही इसका पटना शेड्यूल शुरू होने वाला है। हाल ही में इस फिल्म को लेकर एक कंट्रोवर्सी सामने आई है। दरअसल, आनंद कुमार पर उनके पार्टनर रहे सीनियर आईपीएस ऑफिसर और डीआईजी अभयानंद ने आरोप लगाया है कि फिल्म में उनका जिक्र नहीं किया जा रहा है। जबकि वे ‘सुपर 30’ में पार्टनर थे। अभयानंद का आरोप है कि आनंद ने अपनी कोचिंग से आईआईटी में दाखिला पाने वाले सफल छात्रों की गलत तस्वीर पेश की है। इसके साथ ही आनंद पर करोड़ों की संपत्ति अर्जित करने का भी आरोप लगाया गया।

सही समय आने पर पक्ष रखेंगे आनंद

…इन सब विवादों के बीच ऋतिक और फिल्म के डायरेक्टर विकास बहल ने आनंद और उनकी बायोग्राफी लिखने वाले राइटर बीजू मैथ्यू को फिल्म के शूट हुए हिस्से दिखाने का फैसला किया। दोनों को हाल ही मुंबई में अब तक शूट हुई फिल्म के सभी हिस्से दिखाए गए। इसे देखने के बाद बीजू ने कहा, ‘फिल्म में आनंद की जर्नी को सही शक्ल दी गई है। इसमें मूल रूप से आनंद के बचपन से लेकर ‘सुपर 30’ बनने तक का सफर दिखाया गया है। आनंद के पिता की मौत और छोटे भाई प्रणव के लापता हो जाने की भी कहानी है।’

‘सुपर 30’ के कुछ छात्रों ने भी आपत्ति जताई थी कि फिल्म में आनंद गलत तथ्यों को पेश कर रहे हैं और पूरा क्रेडिट खुद ले रहे हैं। ‘सुपर 30’ प्रोग्राम अभयानंद के सहयोग से 2002 में शुरू हुआ था, जिसमें गरीब बच्चों को मुफ्त में आईआईटी-जेईई का एग्जाम क्रैक करने की ट्रेनिंग दी जाती है। अभयानंद ने कहा कि ‘मेरे ही विचार पर आनंद ने ‘सुपर 30 प्रोग्राम’ की बुनियाद डाली थी पर इस फिल्म में वे मेरे बारे में जिक्र तक नहीं कर रहे। वे इस बात से इंकार नहीं कर सकते कि सुपर 30 में मेरा क्या योगदान रहा है।’ रिपोर्ट के अनुसार, आनंद 30 में से 26 बच्चों के एग्जाम क्रैक करने का दावा करते हैं जबकि हर बार ऐसा नहीं होता। कुछ छात्रों ने आरोप लगाया है कि उन्होंने कोटा के 10-12 छात्रों को ‘सुपर 30’ का छात्र बताया है। जबकि उनके कुल तीन छात्रों ने एग्जाम क्लीयर किया था।