जापान: छात्रों ने बनाया हिरोशिमा हमले का वर्चुअल वीडियो, कहा- तस्वीरें देखोगे तो हमारा दर्द समझ जाओगे

फुकुयामा. जापान के फुकुयामा टेक्निकल हाईस्कूल के कुछ बच्चों ने 73 साल पहले हिरोशिमा में हुए परमाणु हमले का वर्चुअल वीडियो बनाया है। पांच मिनट के इस वीडियो में उन्होंने स्लोगन दिया- तस्वीरें देखोगे तो हमारा दर्द खुद समझ जाओगे। यह प्रोजेक्ट दो साल में पूरा हुआ। डेटा जुटाने के लिए उन्होंने हमले के पीड़ितों से बात की। पुरानी तस्वीरों और वीडियो का भी इस्तेमाल किया।

वीडियो बनाने वाली टीम में शामिल मेई ओकादा ने बताया कि उनका स्कूल हिरोशिमा से करीब 100 किलोमीटर दूर है। वे दुनिया को दिखाना चाहते हैं कि 73 साल पहले उनके साथ किस तरह अन्याय किया गया।

जो हुआ, अच्छा नहीं हुआ : 18 साल के यूही नाकागवा कहते हैं, ‘‘हमारी टीम में शामिल अधिकतर बच्चे परमाणु हमले के 50 साल बाद इस दुनिया में आए। प्रोजेक्ट के दौरान हमने उस वक्त के काफी फोटो देखे। हमें महसूस होता है, जो हुआ, वह ठीक नहीं था। डेटा जुटाते वक्त हम ऐसे लोगों से मिले, जो परमाणु हमले में जिंदा बच गए थे। उनकी हालत आज भी ज्यादा अच्छी नहीं है। वे कई बीमारियों से जूझ रहे हैं।’’

दोनों हमलों में दो लाख से ज्यादा लोग मारे गए : पांच मिनट के इस वीडियो में 6 अगस्त 1945 की सुबह हिरोशिमा में चमकीली धूप खिली हुई दिखाई गई है। शहर के ऊपर से अचानक एक हवाई जहाज गुजरता है। रोशनी दिखाई देती है और तेज धमाके की आवाज आती है। इमारतें ढह जाती हैं और चारों तरफ काला धुआं फैल जाता है। आग की लपटें आसमान तक उठती नजर आती हैं। इस हमले में 1 लाख 40 हजार लोगों की मौत हो गई थी। इसके तीन दिन बाद अमेरिका ने नागासाकी पर दूसरा परमाणु बम फेंका था, जिसमें 70 हजार लोग मारे गए थे। दोनों हमलों के छह दिन बाद जापान ने समर्पण कर दिया और द्वितीय विश्व युद्ध खत्म हो गया था।